अरसा हुआ अलफ़ाज़ से कुछ गुफ्तगू करे

मुद्दत हुयी है हर्फ़ की सोहबत लिए हुए

Advertisements